दिल कुछ इस सूरत से तडपा उनको प्यार आ ही गया

काम आख़िर जज़्ब-ए-बेइखहतियार आ ही गया
दिल कुछ इस सूरत से तडपा उनको प्यार आ ही गया 

 
इस तरह से खुश हू किसी के वाद-ए-फर्दा पे मैं
दर हक़ीकत जैसे मुझको ऐतबार आ ही गया

हाए काफ़िर दिल की ये काफ़िर जुनून अंगेजीयाँ
तुम को प्यार आए ना आए मुझ को प्यार आ ही गया

जान ही दे दी जिगर ने आज पा-ए-यार पर
उम्र भर की बेकरारी को करार आ ही गया

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s